ये हैं होलिका दहन एवं पूजन का शुभ मुहूर्त- 20 मार्च 2019

Share this

आखिर होली का इंतजार हुआ खत्म, बुधवार 20 मार्च 2019 को फाल्गुन मास की पूर्णिंमा तिथि है, इसी दिन होलिका दहन किया जाता हैं । इस दिन रवि योग, बुधवार कन्या राशि में चन्द्रमा रहेगा । शास्त्रोंक्त वैदिक पूजा विधि के अनुसार होलिका दहन से पहले होली का पूजन किया जाता है । विधिवत पूजन सामग्रियों के साथ पूजा करने से होती हर मनोकामना पूरी । जाने होलिका दहन एवं पूजन का सही शुभ मुहूर्त ।

सबसे पहले इन सामग्रियों को करें इकट्ठा-
पूजा सामग्री में एक लोटा गंगाजल या ताजा शुद्ध जल, रोली, खुले फूल व 4 फूल माला, सात रंग में रंगे रंगीन चावल, सुगंधित धूप, गुड़ या मिठाई, कच्चा सूत, साबूत हल्दी, मूंग, बताशे, नारियल एवं नई फसल के अनाज गेंहू की बालियां, पके चने एवं गोबर से बनी ढाल आदि ।

ऐसे करें होलिका दहन से पहले और बाद में पूजन
– होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के समय चार मालाएं- मौली, फूल, गुलाल, ढाल और खिलौनों से बनाई हुई ।
– एक माला पितरों के नाम की, दूसरी श्री हनुमान जी के लिये, तीसरी शीतला माता के लिए और चौथी घर परिवार के नाम की ।
– सभी पूजन सामग्री को नीचे रखकर होली के चारों ओर सात परिक्रमा करते हुए कच्चा सूत को सात बार लपेटे ।
– अब पंचोपचार विधि से होलिका का पूजन कर जल से अर्घ्य दें ।
– पूजन के बाद 5 बार गायत्री मंत्र बोलते हुये होलिका को अग्नि से दहन करें ।
– होलिका दहन के बाद पहले थोड़ा सा शुद्ध जल अर्पित करने के बाद सभी अन्य पूजा सामग्रियों को एक एक कर जलती होलिका में अर्पित करें ।
– पूजन के बाद भगवान नरसिंह के निमित्त जलती होलिका में कच्चे आम, नारियल, गेहूं, उड़द, मूंग, चना, चावल जौ और मसूर, चीनी के खिलौने, नई फसल आदि को एक साथ मिलकार 11 आहुति प्रदान करें ।

होलिका दहन एवं पूजन का शुभ मुहूर्त

होलिका दहन तिथि – 20 मार्च 2019 बुधवार फाल्गुन पूर्णिमा
होलिका दहन का शुभ मुहूर्त – रात्रि 9 बजे से लेकर रात्रि 12 बजे तक ।
नोट- ( 20 मार्च 2019 बुधवार को रात्रि 8 बजकर 50 मिनट तक भद्राकाल रहेगा, जिसमें होलिका दहन करना निषेध माना जाता है ।)

******************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *