Effects of venus in different houses in Hindi

Share this

Effects of venus in different houses in Hindi,Venus in 6th House

Venus in 6th House

1-शुक्र की दशा मेष राशि वालों अच्छी नहीं होती है। यदि कुण्डली में शुक्र छठें, आठवें, बारहवें व पाप ग्रहों से युक्त व दृष्ट हो व्यक्ति को शुक्र से सम्बन्धित कई रोगों का सामना करना पड़ता है।
2-अगर सप्तम भाव में बुध व शुक्र हो तो एक स्त्री होती है और सप्तमेश व द्वितीयेश शुक्र के साथ अथवा पाप ग्रहोे के साथ होकर छठे, आठवें व बारहवें भाव में स्थित हो तो एक स्त्री मर जाती है। फिर दूसरा विवाह होता है।
3-मिथुन लग्न हो, लग्न में बुध, शुक्र, केतु व राहु हो तथा सप्तमेश गुरू दूसरे स्थान में पाप ग्रह के साथ हो व शनि सातवें भाव को देख रहा हो तो दो विवाह होते है लेकिन दोनों स्त्रियॉ मर जाती है।
विवाह उतना ही जल्दी होता है
7-लग्नेश से शुक्र जितना नजदीक होता है विवाह उतना ही जल्दी होता है।
8-शुक्र व मंगल लग्न, चतुर्थ, छठें, सातवें, आठवें व बारहवें हो तो जातक का प्रेम विवाह होता है।
9-शुक्र मंगल के साथ छठें भाव में हो तो मनुष्य कामी होता है। शुक्र मिथुन या तुला राशि में हो तो स्त्री-पुरूष दोनों कामी होते है।
शुक्र ग्रह से होने वाले रोग
1-छठें भाव का मालिक शुक्र के साथ लग्न या अष्टम भाव में हो तो ऑख के रोग होते है।
2-सिंह राशि में सूर्य को शुक्र देख रहा हो तो पाइल्स रोग हो सकता है।
3-शुक्र अस्त हो, छठेें, आठवेे, बारहवेें भाव में हो तो मूत्र रोग, पथरी, वीर्य की कमी, कान रोग, शीघ्र पतन, स्वपन दोष व क्षय रोग आदि होते है।
4-शुक्र व चन्द्र अपने शत्रु के साथ हो तो व्यक्ति को कम सुनाई देता है।
मंगल तथा सप्तम में गुरू
5-लग्न में मंगल तथा सप्तम में गुरू व मंगल हो तो सिर में चोट-चपेट लग सकती है।
6-अष्टमेश पर शुक्र की दृष्टि तथा सूर्य के साथ शनि व राहु हो तो सिर का बड़ा आपरेशन होने की आशंका रहती है।
7-मेष या कर्क राशि में होने पर दॉतों में पायरिया रोग हो जाता है।
पाप ग्रहों से दृष्ट हो
8-शुक्र षष्ठेश होकर लग्न में हो व पाप ग्रहों से दृष्ट हो तो जातक को मुख में सूजन हो सकती है। 12वें स्थान में शुक्र, पंचम, नवम में शनि व सप्तम में सूर्य हो दन्त रोग हो सकता है।
9-नीच राशि में शुक्र के साथ राहु हो तो कान में चोट लगती है एंव तृतीयेश शुक्र के साथ हो तो कम सुनाई देता है।
10-दशम स्थान में शुक्र व राहु एक साथ हो तो सर्प से भय रहता है। जानवरों से भी चोट-चपेट लग सकती है।

Yellow Sapphire Pukhraj 5 Carat Natural Lab Certified, Yellow sapphire ring

Sagittarius Ascendant Vedic Astrology

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *