पारिवारिक समस्या हो या हो कोई गंभीर रोग, दो दिन में मिलेगी मुक्ति, दुर्गा अष्टमी की रात कर लें ये आसान उपाय

Share this

अगर आपके परिवार में कोई ऐसी समस्या है जिससे मुक्ति नहीं मिल पा रही हो, या किसी कोई गंभीर बीमारी हो तो चैत्र नवरात्रि की अष्टमी तिथि यानी की 13 अप्रैल 2019 की रात में 8 बजे से लेकर 12 के बीच मां दुर्गा के इन देवी भागवत में दिये रामबाण मंत्रों का जप एक हजार बार लाल चंदन की माला से लाल रंग के आसन पर बैठकर करें । जप के समय गाय के घी का दुख मुख वाला दीपक जलता रहे । जप पूरा होने के बाद आम, गुलर एवं पीपल का समिधा में गाय के घी से ही 108 जप किये मंत्र की आहुति दें । दुसरे दिन कन्या भोज कराकर कुछ दान एवं लाल चुनरी कन्यों को भेट करें । इस उपाय से अति शीघ्र आपको समस्याओं से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाएगी ।

– दुःख-कष्टों के नाश के लिए- परिवार में अगर कोई दुःख या कष्ट है तो चैत्र नवरात्र की अष्टमी तिथि की रात को 8 से 12 बजे के बीच इस मंत्र का जप एक हजार बार चंदन की माला से करें । जप के बाद यज्ञ आश्यक हैं ।

मंत्र-
ॐ शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे ।
सर्वस्यार्तिहरे देवि नारायणि नमोऽस्तु ते ।।

– स्वस्थ शरीर- स्वास्‍थ्य और धन के साथ ऐश्वर्य से भरपूर जीवन की कामना हैं तो इस चैत्र नवरात्रि की अष्टमी तिथि की रात में 8 से 12 बजे के बीच मां दुर्गा के इस स‌िद्ध मंत्र का जप एक हजार बार करें । जप के बाद यज्ञ आश्यक हैं ।

मंत्र-
ॐ ऐश्वर्य यत्प्रसादेन सौभाग्य-आरोग्य सम्पदः ।
शत्रु हानि परो मोक्षः स्तुयते सान किं जनै ।।

– बंधनों से मुक्ति के लिए – जीवन मृत्यु यानी बार-बार जन्म लेने और मरने के चक्र से बचना चाहते हैं तो मोक्ष प्राप्‍त‌ि के ल‌िए भी इस चैत्र नवरात्रि में अष्टमी तिथि की रात को 8 बजे से लेकर 12 बजे तक इस दिव्य सिद्ध मंत्र का जप एक हजार बार करने से मनुष्य जन्म-मृत्यु के बंधन से छुट जाता हैं । जप के बाद यज्ञ आश्यक हैं ।

मंत्र-
ॐ सर्वस्य बुद्धिरुपेण जनस्य हृदि संस्थिते ।
स्वर्गापवर्गदे देवि नारायणि नमोऽस्तु ते ।।
************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *