chaitra navratri : जप लें इनमें से कोई भी एक मंत्र निर्धनों को धन, निःसंतानों को संतान का मिलेगा वरदान

Share this

मां दुर्गा अपनी शरण में आने वाले की हर इच्छा पूरी कर देती हैं, जो जिस भी कामना से मां के पास जाता है, वह कभी खाली मां के दरबार से वापस नहीं आता है । नवरात्रि पर्व में श्रद्धालु अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए तरह तरह के उपाय, मंत्रों का जप करके कृपा पाते हैं । अगर किसी को धन की कामना हो, या फिर कोई निःसंतान हो और संतान सुख की कामना हो तो चैत्र नवरात्रि काल में किसी भी दिन किसी भी समय मां दुर्गा के इन मंत्रों के जप से प्रसन्न होकर मां मनोकामना पूर्ति का वरदान देती हैं । जाने किन मंत्रों को जपने से आपकी इच्छा पूरी हो जायेगी ।

जीवन की समस्याओं से उभरने के लिए व्यक्ति अनेक प्रयास करता है पर कुछ ही लोगों की समस्याएं खत्म हो पाती है । शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि काल और उसमे भी चैत्र नवरात्रि के नौ दिनों में ऐसा विशेष समय होता जिसमें श्रद्धा पूर्वक मां दुर्गा की शरण में जाकर इन मंत्रों का जप करके अपनी परेशानियों से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकता है ।

1- इस मंत्र के जप से निर्धनों को होगी धन की प्राप्ति- चैत्र नवरात्र में अगर घर का मुखिया या परिवार के अन्य सदस्य धन संबंधी समस्याओं से बुरी तरह परेशान हैं और अपनी गरीबी को दूर करना चाहते हैं तो इस चैत्र नवरात्र में माँ दुर्गा के इस मंत्र की एक या तीन माला मंत्र जप करने से मां दुर्गा की कृपा से निर्धनता से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जायेगी ।
मंत्र-
ॐ दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तोः ।
स्वस्थैः स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि ।।

2- इस मंत्र के जप से निःसंतान माताओं की भर जायेगी गोद- अगर कोई माता बहने संतान सुख चाहती है तो इस चैत्र नवरात्र में इस मंत्र का जप 5 माला मां दुर्गा के सामने बैठकर संतान प्राप्ति की कामना से करें । निश्चित ही मां दुर्गा की कृपा से संतान सुख की प्राप्ति होगी ।
मंत्र
ॐ सर्वाबाधा वि निर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वितः ।
मनुष्यो मत्प्रसादेन भवष्यति न संशय ॥

******************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *