मां बगलामुखी जयंती 12 मई : इस एक मंत्र के जप से हो जाती है, बड़ी से बड़ी मनोकामना पूरी

Share this

12 मई दिन रविवार 2019 को मां बगलामुखी की जयंती हैं। इस दिन लोग माता की कृपा पाने के लिए अनेक प्रकार से पूजा अर्चना करते हैं। कहा जाता है कि इस दिन मां बगलामुखी के इस मंत्र का जप पूरी श्रद्धा के साथ सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय 108 + 108 जप करता है मां उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी कर देती है।

इस मंत्र का जप पूर्ण शुद्धता के साथ ही जपना है-

कई जगहों पर मां बगलामुखी के सर्व कामना पूर्ति बीज मंत्र को अशुद्ध रूप से लिखा पाया जाता है और अगर कोई अशुद्ध मंत्र का उच्चारण या जप करता है तो उसे कोई बड़ी हानि भी हो सकती है। मंत्र के जानकार कहते है कि यदि इस मन्त्र का सही उच्चारण किया जाय तो मां बगलामुखी का यह बीज मंत्र साधक की समस्त मनोकानाओं की पूर्ति कर देता है।

इस मंत्र के शुद्ध और भावपूर्ण उच्चारण से शत्रु को शांत किया जा सकता है, मुकदमा भी जीत सकते है, आधिदैविक और आधिभौतिक समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है, बंधनों से मुक्ति मिल सकती है, जेसै कोई बेकसूर व्यक्ति जेल में है या जेल जाने के आसार है तो इस मंत्र की साधना से 100% बच सकता है। भूत प्रेत और जादू टोन की बाधा से रक्षा होती है, सारे डर खत्म हो जाते है। धन संबंधित समस्या दूर हो जाती है। इस साधना से कोई भी अपने व्यक्तित्व को प्रभावशाली बना सकता है।

ये है शुद्ध बगलामुखी बीज मंत्र

ॐ ह्रीं बगलामुखी सर्व दुष्टानाम वाचं मुखम पदम् स्तम्भय।
जिव्हां कीलय बुद्धिम विनाशय ह्रीं ॐ स्वाहा।।

बगलामुखी मन्त्र के प्रारंभ में ह्री या ह्लीं दोनों में से किसी भी बीज का प्रयोग किया जा सकता है, ह्रीं तब लगायें जब आपका धन किसी शत्रु ने हड़प लिया है और ह्लीं का प्रयोग शत्रु को पूरी तरह से परास्त करने के लिए ही करें। इससे शत्रु को वश में करने की अद्भुत शक्ति मिलती है, लेकिन यह सब एक दो दिन में नहीं होगा बल्कि इसके लिए संकल्प लेकर कम से कम 40 दिन का विशेष अनुष्ठान करने का नियम है। बिना नियमों की जानकारी इस साधना को नहीं करना चाहिए। मां बगलामुखी अपने भक्त से श्रद्धा और विश्वास चाहती हैं, यदि आप पूरी श्रद्धा और नियमों के साथ साधना करेंगे तो शीघ्र सफलता मिलेगी।

****************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *