सोमवती अमावस्या : आज की काली रात भूल कर भी न करें यह कार्य, नहीं तो हो जाएंगे बर्बाद

Share this

हिन्दू शास्त्रों में सोमवती अमावस्या का खास महत्व है। वैसे तो हमारो शास्त्रों में सभी अमावस्या का महत्व है लेकिन सोमवार को पडने वाली अमावस्या का कुछ खास महत्व है। माना जाता है कि इस दिन सुबह-सुबह गंगा स्नान कर पीपल पूजा का कुछ अलग ही महत्व होता है। इस दिन भगवान वासुदेव और महादेव की पूजा की जाती है। साथ ही इस दिन शाम में भी की गई पूजा विशेष फल देती है।

ये भी पढ़ें- शनि जयंती 2019 : शनि की वक्र दृष्टि से शिवजी भी नहीं बच पाए थे

सोमवती अमावस्या के दिन तुलसी माता की परिक्रमा करने से विशेष फल मिलता है। सोमवती अमावस्या के दिन सुबह में पूजा करने के साथ-साथ रात में भी कुछ उपाय करना चाहिए। ऐसा करने से सुख और धन की कमी नहीं होती है। इन सबके अलावे रात में कभी भी यह कार्य नहीं करने चाहिए, नहीं तो आप बर्बाद हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें- शनि जयंती 2019 : शिव की कृपा से शनि बने थे दंडाधिकारी

सोमवती अमावस्या की रात भूलकर भी न करें यह कार्य

दरअसल, अमावस्या की काली रात में कुछ लोग तांत्रिक सिद्धियां अजमाते हैं। माना जाता है कि उस वक्त नकारात्मक शक्तियां सक्रिय रहती है। यही कारण है कि हमारे शास्त्रों में उस वक्त कुछ कार्य करने से मना किया जाता है।

माना जाता है कि उस वक्त पति-पत्नी को संभोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके बाद जो पुत्र या पुत्री जन्म लेंगे वह भाग्यशाली नहीं होंगे। उन्हें कभी भी सुख प्राप्त नहीं होगा।

ये भी पढ़ें- जब शनिदेव ने कहा- मेरी नजर से न देव बच सकते हैं, न दानव

अमावस्या की रात में घर में लड़ाई-झगड़ा नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि उस वक्त पितर भी घर में मौजूद रहते हैं। घर का कलश देखकर उन्हें दुख होता है और वे बिना आशीर्वाद दिए ही वापस लौट जाते हैं।

अमावस्या के दिन तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए। इस दिन लहसुन-प्याज और मांसाहार से दूर रहें। साथ ही अमावस्या की रात भूलकर भी शराब की सेवन न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *