अंकज्योतिष 10 अगस्त 2019: आज देवी मां के मंदिर में 5 प्रकार के फल चढ़ाएं

Share this

ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- खराब संगति के कारण परेशानी में पड़ सकते हैं व दूसरे भी परेशानी में आ सकते हैं। निजी संबंधओं में पहले से चल रही सुधार की संभावनाएं कमजोर पड़ सकती है।
अनुकूलता के लिए- गाय के गोहर से बने कंड़े की धूप दें।

अंक 02- वर्तमान समय को देखते हुए युवाओं को भविष्य के प्रति अपनी चिंताओं से रूबरू होना पड़ सकता है। रिश्तेदारों के साथ तालमेल बैठआने की कोशिशें रंग लाती दिखाई देगी।
अनुकूलता के लिए- प्रातःकाल सूर्य देवता के दर्शन करें।

अंक 03- कार्यस्थल पर परिवर्तन करने की अपनी योजनाओं को स्वजनों के विरेध के चलते छोड़ना पड़ सकता है। निर्णय लेने के प्रति मन में स्थिरता का भाव नहीं बन पाएगा।
अनुकूलता के लिए- 5 प्रकार के फल देवी मंदिर में चढ़ाएं।

अंक 04- महत्वपूर्ण व्यक्तियों से मुलाकात के भरपूर अवसर मिलेंगे। स्वास्थ्य की दृष्टि से थोड़ा परेशान होना पड़ सकता है। व्यवसाय के संबंध में कहीं दूर की यात्रा करने के योग बनते हैं।
अनुकूलता के लिए- पंचगव्य से शिवजी का अभिषेक करें।

अंक 05- अतिरिक्त कामकाज में किसी के सहयोग के बगैर स्वयं को पूरी तरह जुझना पड़ सकता है। खाने-पिने में गरीष्ठ भोजन करने की आदत स्वास्थ्य की तकलीफ पहुंचा सकती है।
अनुकूलता के लिए- हनुमान मंदिर में कच्चे नारियल चढ़ाएं।

अंक 06- शेयर बाजार में किये गए निवेश से अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। अगर पत्नी के सहयोग से काम करते हैं तब कार्यों के पूर्ण होने की संभावनाएं ज्यादा रहेगी।
अनुकूलता के लिए- नीले रंग का कोई भी एक वस्त्र धारण करें।

अंक 07- घरेलु व्यवसाय में अपने सहयोग करने से स्वजनों की चिंताओं में कमी आएगी। स्वतंत्र रहकर कार्य करने की अपनी शैली में थोड़ा बहुत परिवर्तन करने की जरूरत रहेगी।
अनुकूलता के लिए- गन्ने के रस से शिवजी का अभिषेक करें।

अंक 08- जमीनों के काम में निर्णय लेने की स्थिति को कुछ समय के लिए आगे बढ़ाने की ओर गहराई से विचार करना होगा। मोटरयान से संबंधित रूके हुए कार्य में गति आने लगेगी।
अनुकूलता के लिए- गरीबों में गर्म दुध का वितरण करें।

अंक 09- परिवार में मुद्दों पर अधआरित बातों को ही अपने जीवन की प्राथमिकता बनाए। भाईयों व अधिनस्थों के व्यवहार में अपने प्रति आश्चर्यजनक परिवर्तन देखने को मिलेगा।
अनुकूलता के लिए- किसी भी व्यक्ति का अपमान करने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *