dhan prapti ke upay : शुक्रवार को कर लें ये अचूक उपाय, हर इच्छा पूरी करेंगी माँ लक्ष्मी

Share this

शुक्रवार का दिन माँ लक्ष्मी की पूजा आराधना का दिन माना जाता है। इस दिन धन प्राप्ति की इच्छा लिए अनेक लोग माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए तरह तरह के अनेक कठिन उपाय करते रहते हैं। तंत्र शास्त्र में धन प्राप्ति ( dhan prapti ke upay ) के ऐसे सरल उपाय भी बतायें गये है, जिसे करने के बाद व्यक्ति की धन संबंधित सारी समस्याएं दूर हो जाती है। अगर धनवान बनना चाहते हैं तो शुक्रवार के दिन जरूर करें ये अचूक उपाय माँ लक्ष्मी करेंगी आपकी हर इच्छा पूरी।

dhan prapti ke upay

1- शुक्रवार के दिन धन प्राप्ति के लिए घर के पूजा स्थल में लभ्मी जी की स्थापना करके गाय के घी का दो मुह वाला दीपक जलायें। ऐसा करने से घर में धन आवक में वृद्धि होने लगेगी।

2- शुक्रवार के दिन माँ लक्ष्मी की तस्वीर या मूर्ति पर मोगरे का इत्र अर्पित करें।

3- शुक्रवार के दिन महा लक्ष्मी को गुलाब का इत्र चढ़ाने से रति और कामसुख की प्राप्ति होती है।

4- शुक्रवार के दिन माँ लक्ष्मी को केवड़े का इत्र अर्पित करने से मानसिक शांति की प्राप्ति होती है।

5- शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी को चंदन का इत्र चढ़ाने से भाग्य में वृद्धि होने लगती है।

dhan prapti ke upay

6- धन के साथ दांपत्य जीवन को प्रेम से परिपूर्ण और समृद्ध बनाने के लिए शुक्रवार के दिन माँ लक्ष्मी के मंदिर सोलह श्रृंगार की सामग्री अर्पित करें ।

7- शुक्रवार के दिन घर से चंदन का इत्र लगाकर निकलने से कार्य और व्यवसाय में उन्नति दोगुना ज्यादा होने की स्थिति बनने लगती है।

8- हर शुक्रवार को गाय को ताजी रोटी में गुड़ मिलाकर खिलाने से माता लक्ष्मी की कृपा पूरे परिवार पर जीवन भर बनी रहती है।

dhan prapti ke upay

9- शुक्रवार के दिन 11 छोटे आकार के नारियल लेकर उनको एक पीले कपड़े में बांधकर घर की रसोई के पूर्व दिशा वाले कोने में बांध दें, ऐसा करने से घर में कभी भी अन्न-धन की कमी नहीं आयेगी।

10- इस मंत्र का जप गर दिन करने से माँ लक्ष्मी हमेशा साथ रहती है।

मंत्र-

ऊँ ह्रीं ह्रीं श्रीं श्रीं लक्ष्मी वासुदेवाय नम:।

उपरोक्त उपायों को करते समय माँ लक्ष्मी से अपनी मनोकामना पूरी होने की प्रार्थना करें, माँ की कृपा से आपकी सभी इच्छाएं पूरी होगी।

*****

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *