Hartalika Teej 2019: सोलह श्रृंगार के बिना हरतालिका तीज का पर्व अधूरा!

Share this

हरतालिका तीज ( Hartalika Teej 2019 ) सुहागन महिलाओं के लिए बहुत महत्व रखता है। इस दिन सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और अच्छी सेहत के लिए निर्जला व्रत करती हैं। हाथों में मेहंदी रचाती हैं। नए कपड़े पहनती हैं और सोलह श्रृंगार करके भगवान शिव ( Lord Shiva ) और माता पार्वती की पूजा करती हैं।

कहा जाता है कि हरतालिका तीज ( Hartalika Teej ) सोलह श्रृंगार के बिना अधूरा है क्योंकि इस दिन महिलाएं सोलह श्रृंगार करके पूजा तो करती ही हैं, साथ ही माता पार्वती को सोलह श्रृंगार की सामग्री भी अर्पित करती हैं। दरअसल, हरतालिका तीज अखंड सौभाग्य का पर्व और अखंड सौभाग्य का प्रतीक है सोलह श्रृंगार।

आइये जानते हैं सोलह श्रृंगार और इसके महत्व के बारे में…

  1. सिंदूर: सिंदूर को माता पार्वती और सती की शक्ति का प्रतीक माना जाता है।
  2. बिंदी : मस्तक के बीच के स्थान पर बिंदी लगाने से तीसरा नेत्र जागृत होता है। माथे पर बिंदी लगाने से व्यक्तित्व प्रभावशाली भी होता है।
  3. मांग टिका: मांग टिका महिलाओं के सुहागन होने के प्रतीक के तौर पर सिंदूर की रक्षा के लिए लगाया जाता है।
  4. गजरा: बालों को सजाने के लिए महिलाएं गजरे और फूलों का इस्तेमाल करती हैं।
  5. मंगलसूत्र : मंगलसूत्र विवाहित महिला के सुहाग की निशानी होती है, जिसे महिलाएं अपने गले में हमेशा धारण करती हैं।
  6. झुमका: झुमके के बिना महिलाओं का सोलह श्रृंगार अधूरा माना जाता है। इसे कानों में पहना जाता है।
  7. चूड़ियां: सुहागन महिलाएं अक्सर अपने हाथों में चूड़ियां पहनती हैं।
  8. बाजूबंद: बाजूबंद सोलह श्रृंगार का हिस्सा है। सुहागन महिलाएं इसे बाजू में बांधती हैं।
  9. कमरबंद: कमरबंद को सुहाग का प्रतीक माना जाता है।
  10. नथुनी: नथुनी नाक में पहना जाता है। यह भी सोलह श्रृंगार का हिस्सा है।
  11. अंगूठी: अंगूठी को भी सुहाग के लिए महत्वपूर्ण श्रृंगार माना जाता है। हाथों की उंगलियों में पहनी जाने वाली अंगूठी महिलाओं के सौंदर्य को निखारती है।
  12. मेहंदी: हरतालिका तीज पर हाथों में मेहंदी लगाना बेहद शुभ माना जाता है, यही कारण है कि महिलाएं सिर्फ तीज ही नहीं बल्कि अन्य त्यौहारों पर भी अपने हाथों में मेहंदी लगाती हैं।
  13. पायल: सोलह श्रृंगार का हिस्सा है। इसे पैरों में पहना जाता है।
  14. बिछिया: बिछिया भी सोलह श्रृंगार का हिस्सा है।
  15. काजल: काजल भी सोलह श्रृंगार का हिस्सा है। काजल लगाने से महिलाओं की खूबसूरती में निखार आता है।
  16. मेकअप: पर्व त्यौहार के मौके पर हल्का मेकअप कर लेना चाहिए। माना जाता है कि मेकअप करने से आत्मविश्साव बढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *