पति और बच्चों की उम्र क्यों घटती है, जानते हैं क्या?

Share this

भारतीय संस्कृति में हर दिन का अलग-अलग महत्व है। हिन्दू धर्म शास्त्रों में हर दिन के बारे में जानकारी दी गई है। दिन के हिसाब से कार्य करने की बात भी बताई गई है। वैस तो सप्ताह के सातों दिन खास है लेकिन गुरुवार का खास महत्व है। माना जाता है कि गुरुवार धर्म का दिन है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गुरुवार के दिन कुछ काम नहीं करना चाहिए। कहा जाता है कि अगर इन कामों को गुरुवार को किया जाता है तो गुरु का प्रभाव हल्का हो जाता है, जिस कारण अन्य ग्रहों का प्रभाव बढ़ जाता है जो हमारे लिए ठीक नहीं होता है। आइये जानते हैं कि गुरुवार को क्या नहीं करना चाहिए।

गुरुवार को न बाल धोएं, ना ही कटवाएं

धर्म शास्त्रों के अनुसार, महिलाओं के जन्मकुंडली में बृहस्पति पति और संतान का कारक होता है। अर्थात गुरु ग्रह दोनों को प्रभावित करता है। ऐसे में गुरुवार के दिन महिलाएं बाल धोती या कटवाती हैं तो गुरु कमजोर हो जात है, जिस कारण पति और संतान की उन्नति रुक जाती है।

शेविंग और नाखून नहीं काटना चाहिए

गुरुवार को न तो शेविंग करना चाहिए, ना ही नाखून काटना चाहिए। ऐसा करने से गुरु ग्रह कमजोर होते हैं। अगर गुरु ग्रह कमजोर होंगे तो जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा साथ ही उम्र भी कम होगा।

पोछा नहीं लगाना चाहिए

गुरुवार के दिन घर में पोछा नहीं लगाना चाहिए, ना ही घर से कबाड़ बाहर निकालना चाहिए। माना जाता है कि इस दिन पोछा लगाने से घर के सदस्यों पर शुभ प्रभाव में कमी आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *