सितंबर में बदलने वाली है इन 7 राशियों की किस्मत, ये 4 ग्रह बदलने जा रहे अपनी राशि

Share this

साल का नौवां महीना सितंबर शुरु हो चुका है। हिंदू पंचांग के अनुसार यह माह तीज-त्योहारों का माह बहुत शुभ माना जाता है, वहीं ज्योतिषीयों के अनुसार यह महीना कई राशियों के लिए भी शुभ माना जा रहा है। ज्योतिष पंडित गुलशन अग्रवाल के अनुसार इस महीने 4 ग्रहों का राशि परिवर्तन होने वाला है। इस माह सूर्य, मंगल, बुध और शुक्र चारों ग्रह राशि बदलेंगे। वहीं शनि जो कि इस समय धनु राशि में वक्री हैं, वो इस माह में मार्गी होकर धनु राशि में ही गोचर करेंगे।

rashi_chakra.png

ज्यो. पंडित जी के अनुसार इन चार ग्रहों के राशि परिवर्तन और शनि के मार्गी होने से बहुत राशियों वाले जातकों को लाभ होगा। शनि के मार्गी होने से खासकर उन राशियों को लाभ होगा जो शनि से प्रभावित हैं। लेकिन कुछ पर इसका पॉजिटिव असर देखने को मिलेगा तो कुछ पर इसका नेगेटिव प्रभाव पड़ेगा। आइए जानते हैं शनि सहित किन अन्य ग्रहों के परिवर्तन से राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

सितंबर में इन 7 सात राशियों की बदलेगी किस्मत

इस महीने 4 ग्रहों का राशि परिवर्तन होगा। जिनमें सूर्य, मंगल, बुध और शुक्र अपनी राशि बदलेंगे और शनि इस माह में मार्गी हो जाएंगे। जो सभी राशियों पर व्यापक असर डालेंगे। लेकिन ग्रहों के परिवर्तन से इन राशियों का बदलेगा भाग्य आइए जानते हैं वो राशियां- वृषभ, मिथुन, सिंह, कन्या, धनु, मकर और कुंभ ये हैं वो सात राशियां जिनके कामों में आ रही रुकावटें दूर होंगी और तरक्की के नए मार्ग खुलेंगे।

grah_gochar.jpg

इन ग्रहों का होगा राशि परिवर्तन

शनि- शनि इस समय धनु राशि में वक्री है और 18 सितंबर को धनु राशि में मार्गी हो जाएंगे। शनि का मार्गी होना कुछ राशियों पर सकारात्मक प्रभाव डालेगा तो कुछ राशियों पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा। लेकिन जिन जातकों पर शनि की ढ़ैय्या या साढ़ेसाती चल रही है उन जातकों पर शनि की चाल का बहुत प्रभाव देखने को मिलेगा।

सूर्य- ग्रहों के राजा सूर्य इस महीने 17 सितंहर को कन्या राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य का कन्या राशि में प्रवेश सभी राशियों पर प्रभाव डालेगा। सूर्य को तेजस्वी, सरकारी नौकरी व मान-सम्मान वाला ग्रह माना जाता है।

मंगल- ग्रहों के सेनापति मंगल का कन्या राशि में प्रवेश 25 सितंबर को होगा। मंगल का प्रभाव सभी राशियों पर बहुत महत्वपूर्ण होता है। मंगल जातक को परिश्रमी बनाता है। मंगल के राशि परिवर्तन से सभी जातकों को सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा।

बुध- 11 सिंतबर को बुध कन्या राशि में प्रवेश करेंगे फिर इसके बाद 29 सितंबर को तुला राशि में। बुद्ध को बुद्धी का कारक ग्रह माना जाता है। कुंडली में बुद्ध ग्रह मजबूत होता है तो उस व्यक्ति की तार्किक शक्ति बहुत मजबूत होती है।

शुक्र- भौतिक सुख सुविधा का कारक ग्रह शुक्र राशियों को शुभ स्थिति में ऐश्वर्य सुख प्रदान करता है। वहीं 10 सितंबर को शुक्र कन्या राशि में प्रवेश करेगा और 25 सितंबर को इसी राशि में शुक्र का उदय होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *