इस उपाय से प्रसन्न हो जाएंगे शनि देव, दूर होगी हर पीड़ा

Share this

Saturday : Shani Dev Puja Upay : इस उपाय से प्रसन्न हो जाएंगे शनि देव, दूर होगी हर पीड़ा

अगर किसी के जीवन में शनि से संबंधित कोई पीड़ा या परेशानी हो रही हो तो वे शनिवार के दिन शनि देव की कृपा पाने के लिए ये महाउपाय एक बार अवश्य करें। इन उपायों को करने से शनि के कारण होने वाली समस्याएं कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी। जानें शनिवार के दिन शनि देव को प्रसन्न करने के लिए कौन से उपाय करें कि शनि दोषों से मुक्ति मिल सके।

अगर आपको भी घर के बाहर कदम रखते ही मिले ये संकेत तो…

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिवार के दिन शनि देव के चरणों में शनि देव को सबसे अधिक प्रिय लगने वाली इन चीजों को अपनी इच्छा पूर्ति की कामना करते हुए श्रद्धा भाव से अर्पित कर दें। ऐसा करने से शनि देव शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं और शनि दोष के कारण होने वाली समस्त परेशानियां खत्म होने लगती है।

उपाय करने से पहले इस शनि मंत्र का जप 51 बार रुद्राक्ष की माला से करें-

कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।
सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।।

शनिवार को अपनी राशि के अनुसार ऐसे करें हनुमान जी की पूजा, हर इच्छा हो जाएगी पूरी

शनिवार को करें यह उपाय

शनिवार के दिन शनि मंदिर में जाकर शनि देव के चरणों में केवल नीले रंग के 5 फूल एवं काले तिल के 21 दाने सुबह के समय चढ़ा दें, इससे शनि देव शीघ्र प्रसन्न होकर हर मनोकामना पूरी कर देते हैं।

2019 का अंतिम सूर्यग्रहण साल के अंतिम महीने में, होगा बड़़ा परिवर्तन

शनि देव के चरणों में अर्पित करें ये चीज

1- शमी के पत्ते- शनि देव को शमी के पत्ते सबसे अदिक प्रिय है, ये पत्ते से शनिदेव तुरंत खुश हो जाते हैं।

2- नीले फूल- शनि को अपराजिता के फूल चढ़ाएं। ये फूल नीले होते हैं। शनि नीले वस्त्र धारण किए रहते हैं और उन्हें नीला रंग प्रिय है। इसी वजह से शनि को ये फूल चढ़ायें जाते हैं।

3- काले तिल- काले तिल का कारक शनि है। शनि को काली चीजें प्रिय है। इसी वजह से शनि की पूजा में काले तिल भी चढ़ाए जाते हैं।

4- सरसों का तेल- शनि को तेल चढ़ाने की परंपरा बहुत पुराने समय से चली आ रही है और अधिकतर लोग शनिवार को तेल का दान भी करते हैं और शनि का अभिषेक भी करते हैं।

*********

इस उपाय से प्रसन्न हो जाएंगे शनि देव, दूर होगी हर पीड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *