ग्रहों के सेनापति ने चली ये चाल,जानिये सभी 12 राशियों पर इसका असर

Share this

आसमान में ग्रहों की चाल लगातार बदलती रहती है, ऐसे में ज्योतिष के अनुसार ग्रहों की दशा में भी परिवर्तन होता है। दरअसल ज्योतिष के मुताबिक आकाश में स्थित ग्रह हमें काफी हद तक प्रभावित करते हैं।
जानकारों की मानें तो आकाश से चांद समुद्र के जल में तक ज्वार भाटा लाकर उसे प्रभावित कर देता है। तो मानव क्या चीज है, वहीं मानव का तो शरीर ही 70 प्रतिशत जल का बना होता है ऐसे में चंद्र से हमारा भी प्रभावित होना स्वाभाविक ही है। इसी प्रकार अन्य ग्रह भी जो दूसरे पदार्थों के प्रतीक हैं, हमें प्रभावित करते हैं। ज्योतिष में इन ग्रहों की संख्या 9 मानी गई है। जो सीधे तौर पर हमें प्रभावित करते हैं।

इन्हीं सब गणनाओं के बीच ग्रहों के राजा सूर्य ने 14 मार्च 2020 को मीन राशि में गोचर कर लिया था, वहीं रविवार यानि 22 मार्च 2020 को ग्रहों के सेनापति यानि मंगल ने मकर राशि में प्रवेश कर लिया है। मकर शनि की राशि है, साथ ही यह मंगल की उच्च राशि भी है।

MUST READ : सूर्य का गोचर- इन राशि वालों को होगा फायदा तो इनको होगा नुकसान

https://www.patrika.com/bhopal-news/good-and-bad-effects-of-sun-transit-starts-now-from-today-5911215/?utm_source=Facebookutm_medium=Socialutm_campaign=PatrikaNational

ऐसे में मंगल का इसमें प्रवेश जहां एक ओर कुछ लोगों को खास फायदा दे सकता है, वहीं कुछ के सामने इसके चलते परेशानियां खड़ी हो सकती हैं। कुल मिलाकर ग्रहों के सेनापति मंगल का ये परिवर्तन सभी राशियों पर अपना खास असर छोड़ेगा।

ऐसे समझें: मंगल का मकर राशि में गोचर Mars transit in Capricorn
पंडित सुनील शर्मा के अनुसर मंगल ग्रह 22 मार्च, रविवार को दोपहर 13:44 बजे धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश कर गया है। यह मंगल की उच्च राशि है, इसलिए यहां मंगल काफी बलशाली हो जाता है।

MUST READ : नवदुर्गा-देवी मां के अवतारों का ये है कारण, नहीं तो खत्म हो जाता संसार

https://m.patrika.com/amp-news/dharma-karma/incarnations-of-goddess-to-save-earth-5920011/?utm_source=Facebookutm_medium=Socialutm_campaign=PatrikaNational

मंगल एक अग्नि तत्व प्रधान ग्रह है और मकर एक पृथ्वी तत्त्व की राशि है। ऐसे में एक अग्नि तत्त्व प्रधान ग्रह का प्रवेश पृथ्वी तत्व प्रधान राशि में होगा तो मंगल के प्रभाव में वृद्धि होगी। मंगल के मकर राशि में गोचर का प्रभाव सभी 12 राशियों के लोगों पर खास असर के रूप में पड़ेगा, जिसके चलते जहां कुछ राशियों पर इसका सीधा लाभ देखने को मिलेगा वहीं कुछ राशियों के लिए ये गोचर नई समस्याएं लेकर आएगा।

मंगल के गोचर का 12 राशियों पर प्रभाव –

1- मेष राशि – Aries : transit effect of mars
अपने इस गोचर काल में मंगल आपके दशम भाव में रहेगा, इसके अलावा मंगल आपका राशि स्वामी होने के साथ ही आपके अष्टम भाव का भी स्वामी है। दशम भाव में मंगल को दिग बल प्राप्त होता है, जिसकी वजह से वो और भी बलशाली हो जाता है।

1. Aries : transit effect of mars

वहीं मकर मंगल की उच्च राशि होने से उसका प्रभाव पूरी तरह से आपको मिलेगा, जिसके परिणाम स्वरूप आपके कार्यक्षेत्र में जबरदस्त लाभ के योग बनेंगे। आपकी पदोन्नति हो सकती और आप की तनख़्वाह में भी वृद्धि हो सकती है। आप अपने परिवार के प्रति जिम्मेदारियों का भी निर्वाह करेंगे और अचानक से काम में लाभ मिलने का भी योग बनेगा। इस समय काल में आपका स्वास्थ्य बेहद मजबूत रहेगा और आपकी पुरानी सारी बीमारियों से आपको मुक्ति मिलेगी। कुल मिलाकर आपके लिए गोचर काफी अनुकूल परिणाम लेकर आएगा।

आपको केवल अति आत्मविश्वास और किसी प्रकार की कंट्रोवर्सी में पड़ने से बचना होगा। पिताजी का स्वास्थ्य कुछ कमजोर हो सकता है, इसलिए उनका विशेष रूप से ध्यान रखें। प्रेम जीवन के लिए यह गोचर अधिक अनुकूल नहीं है और यदि आपका रिश्ता कमजोर चल रहा है तो इस गोचर के प्रभाव से रिश्ते में टूटन भी आ सकती है, इसलिए थोड़ा सतर्क रहें।

उपायः आप लाल रंग के धागे में तीन मुखी रुद्राक्ष मंगलवार के दिन धारण कर सकते हैं।

2. वृषभ राशि — Taurus : transit effect of mars

2. वृषभ राशि – Taurus : transit effect of mars
इस गोचर के दौरान मंगल आपके नवम भाव में प्रवेश करेंगे। नवम भाव के भाग्य भाव भी कहा जाता है। वहीं आपकी राशि के लोगों के लिए मंगल सातवें व बारहवें भाव के स्वामी हैं।

इस गोचर के दौरान आपको भाग्य का साथ मिलेगा और आप अपने दम पर कई बड़ी चुनौतियों को आसानी से हल कर पाएंगे, जिससे आपको काफी प्रसन्नता होगी। आपकी इनकम भी बढ़ेगी और सुदूर यात्रा के योग भी बनेंगे। कुछ लोगों को विदेश जाने में सफलता मिलेगी। व्यापार के सिलसिले में आपको अच्छे मुनाफ़े की उम्मीद करनी चाहिए। समाज में आपका रुतबा बढ़ेगा। जीवनसाथी के माध्यम से आपको कोई बड़ा लाभ हासिल होगा और आपकी समाज में छवि मजबूत होगी। आपके खर्चों में कमी आने से आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी।

परिवार पर इस गोचर का अच्छा प्रभाव पड़ेगा और इस दौरान आप कोई प्रॉपर्टी भी खरीद सकते हैं या पुराने घर में कंस्ट्रक्शन करवा सकते हैं। ऐसे लोग जो विदेश में अथवा अपने घर से दूर रह रहे हैं, उन्हें इस दौरान अपने घर वापिस लौटने की संभावना बनेगी। आपके मित्रों से भी मेल मुलाकात होगी, जिनके साथ समय बिता कर आप काफी खुश रहेंगे।

पिता या पिता समान व्यक्ति की सेहत बिगड़ सकती है। यह गोचर काल आपके छोटे भाई बहनों के लिए थोड़ा कमजोर है सकता है और उन्हें इस दौरान कोई समस्या आ सकती है।

उपायः मंगलवार के दिन आप रक्तदान कर सकते हैं।

3. मिथुन राशि — Gemini : transit effect of mars

3. मिथुन राशि – Gemini : transit effect of mars
इस गोचर काल में मंगल आपके आठवें भाव में प्रवेश करेंगे। वहीं आपकी राशि के लिए मंगल छठे और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं।
इस गोचर काल में कुछ लोगों को गुप्त या अवांछित तरीकों से लाभ की प्राप्ति हो सकती है। आपको अचानक से धन प्राप्ति के योग भी बनेंगे और पैतृक संपत्ति भी मिल सकती है। नौकरी के लिए यह गोचर अच्छा रहेगा।

ध्यान रखें आठवें भाव में मंगल का गोचर अधिक अनुकूल नहीं होगा, इसलिए आपको विशेष रूप से ध्यान रखना होगा। मंगल अपनी उच्च राशि में होने से इसके प्रभाव अधिक बलशाली होंगे, जिसकी वजह से आपके स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है। आपको किसी प्रकार की चोट या दुर्घटना का शिकार होना पड़ सकता है।

रक्त की अनियमितता, त्वचा संबंधित रोग अथवा गुदा रोग होने की संभावना भी बन सकती है। इसके इतर आपके ससुराल पक्ष के लोगों से किसी बात को लेकर बहस छिड़ सकती है या किसी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। आपके भाई बहनों को भी इस दौरान किसी समस्या से दो-चार होना पड़ सकता है, इसलिए उनका विशेष रुप से ध्यान रखें। यह समय आपका कर्ज चुकाने के लिए सर्वोत्तम है और आपका अधिकांश कर्ज़ इस समय में निपट सकता है। इस समय में कुछ विरोधी परेशान कर सकते हैं, जिनके प्रति आपको सतर्क रहना चाहिए।

उपायः मंगलवार के दिन लाल अनार का दान करें।

4. कर्क राशि - Cancer : transit effect of mars

4. कर्क राशि – Cancer : transit effect of mars
इस गोचर की अवधि में मंगल आपके सप्तम भाव में विराजमान होंगे। वहीं आपकी राशि के लिए मंगल योगकारक ग्रह है क्योंकि यह आपके केंद्र भाव और त्रिकोण भाव अर्थात दशम और पंचम का स्वामी है, इसलिए यह गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है।

मंगल के आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर आपको व्यापार में जबरदस्त लाभ देगा। आप अपने प्रतिद्वंद्वियों को बुरी तरह से हरा देंगे और आपके बिज़नेस को रफ्तार मिलेगी। आपका व्यापार वृद्धि को प्राप्त होगा। इसके इलावा आपको अत्याधिक धन की प्राप्ति भी हो सकती है। इस दौरान संतान का अच्छा सुख मिलेगा। प्रेम संबंध के विवाह में बदलने के योग भी बन रहे हैं अर्थात कुछ लोगों का प्रेम विवाह हो सकता है।

यदि आप किसी के साथ मिलकर बिज़नेस करते हैं तो अपने साझीदार से अच्छे संबंध बनाए रखें। इस दौरान आपके बीच बहस बाजी या झगड़ा हो सकता है। अपने व्यवहार का विशेष रूप से ध्यान रखें क्योंकि आप किसी बात को लेकर उग्र हो सकते हैं और आपका मानसिक तनाव बढ़ सकता है।

वहीं दूसरी ओर विवाहितों मे दांपत्य जीवन के लिए यह गोचर अधिक अनुकूल नहीं कहा जा सकता क्योंकि इस दौरान आपका और आपके जीवनसाथी का रिश्ता कुछ हद तक प्रभावित हो सकता है। बिना किसी वजह के भी आपके जीवनसाथी का दिमाग गर्म रहेगा और वे बात-बात पर झगड़ने की स्थिति में आ सकते हैं। तिल का ताड़ ना बन जाए, इसके लिए आपको संयम रखना होगा।

उपायः मंगल यंत्र की स्थापना कर प्रतिदिन उसकी विधिवत पूजा करें।

5. सिंह राशि - Leo : transit effect of mars

5. सिंह राशि – Leo : transit effect of mars
इस गोचर काल में मंगल आपकी राशि से छठे भाव में प्रवेश करेंगे। आपकी राशि के स्वामी सूर्य के परम मित्र मंगल आपके लिए भी योगकारक हैं क्योंकि वह आपके केंद्र भाव अर्थात चतुर्थ तथा त्रिकोण भाव अर्थात नवम भाव के स्वामी हैं।

वहीं मंगल का गोचर छठे भाव में आमतौर पर अच्छे परिणाम देता है और उच्च राशि में होने से इसके प्रभावों में और भी वृद्धि होगी। इस दौरान आपकी नौकरी में आपको पदोन्नति की ओर अग्रसर होने का मौका मिलेगा। आपकी मेहनत जबरदस्त होगी और उसका फल भी आपको पूरी तरह से मिलेगा। भाग्य में बढ़ोतरी होगी। खर्चों में कमी आएगी। वहीं आपके विरोधी आपके सामने टिक नहीं पाएंगे। यदि कोर्ट कचहरी में कोई केस चल रहा है तो उसका फैसला आपके पक्ष में आ सकता है, जिससे आपको अच्छा लाभ मिलेगा। यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो उसमें सफलता मिलने की पूरी उम्मीद आपको रखनी चाहिए।

हालांकि आपका स्वभाव थोड़ा सा गुस्से वाला हो सकता है जिस पर नियंत्रण रखना आवश्यक होगा। इस गोचर काल में आपके पिताजी को भी उनके करियर में अच्छे परिणाम मिलेंगे। यह गोचर आपकी संतान के लिए भी अच्छा रहेगा और वे अपने क्षेत्र में उन्नति करेंगे।

इस दौरान आपको वाहन बेहद सावधानी से चलाना चाहिए क्योंकि वाहन दुर्घटना हो सकती है।

उपायः आप मंगल ग्रह के मंत्र “ॐ अं अंगारकाय नमः” का नियमित जाप करें।

6. कन्या राशि — Virgo : transit effect of mars

6. कन्या राशि – Virgo : transit effect of mars
इस गोचर के दौरान मंगल आपकी राशि से पंचम भाव में प्रवेश करेंगे। कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल तीसरे और आठवें भाव का स्वामी है।

ऐसे में इस गोचर के प्रभाव से आपको कुछ अप्रत्याशित लाभ होंगे और आपकी आमदनी में अच्छी खासी वृद्धि हो सकती है। आपको शेयर बाज़ार, सट्टा, लाटरी, आदि से लाभ होने के प्रबल योग बनेंगे। यदि आप कंस्ट्रक्शन के काम में हैं तो भी आपको इस गोचर का अच्छा फल मिलेगा। इस समय में आपके खुद के प्रयासों से आपको सफलता मिलेगी। शिक्षा के क्षेत्र में यह समय अच्छा रहेगा और आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। खर्चों पर नियंत्रण रहेगा, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी।

आपके दोस्तों से आपकी कहासुनी हो सकती है लेकिन कुछ नए दोस्त भी बनेंगे और कुछ अपने रिश्तेदार या पड़ोसी आपकी कोई विशेष सहायता भी कर सकते हैं।

यदि आप शादीशुदा हैं तो यह गोचर आपकी संतान को परेशानी दे सकता है और उनके स्वास्थ्य के लिए आपको चिंता में डाल सकता है। इस गोचर की अवधि में आपको यात्रा पर थोड़ा सावधानी से जाना चाहिए क्योंकि यात्रा करने से आपको शारीरिक रूप से परेशानी आ सकती है। इस गोचर काल में आपको अपने प्रेम जीवन में कुछ मुश्किल पलों का सामना करना पड़ेगा और किसी भी प्रकार के विवाद को बढ़ने ना दें, अन्यथा आपका प्रेम संबंध विच्छेद भी हो सकता है।

उपायः मंगलवार के दिन गेहूं और गुड़ का दान करें।

7. तुला राशि — Libra : transit effect of mars

7. तुला राशि – Libra : transit effect of mars
ग्रहों के सेनापति मंगल इस गोचर काल में आपके चौथे भाव में प्रवेश करेंगे, वहीं तुला राशि के लोगों के लिए मंगल दूसरे और सातवें भाव का स्वामी है।

ऐसे में इस गोचर के प्रभाव से यदि आपका जीवनसाथी कार्यरत है तो उनके करियर में किसी बड़े पद की प्राप्ति हो सकती है। पदोन्नति के साथ-साथ अधिकारों की वृद्धि होगी और उनका करियर बढ़िया बनेगा। इसके अलावा प्रॉपर्टी संबंधित मामलों में या किसी प्रॉपर्टी के बेचने से भी आप को लाभ मिल सकता है। आपके कार्यक्षेत्र में इस गोचर का अनुकूल प्रभाव पड़ेगा और आप अपने मनोबल के कारण अपने काम को और बेहतर बना पाएंगे। गोचर की इस अवधि में आपको व्यापार में अच्छे मुनाफ़े के योग बनेंगे।

इस गोचर के चलते आपके परिवार में कुछ समस्याएं खड़ी हो सकती हैं। ऐसे में आपके परिवार में आपकी माताजी का स्वास्थ्य कमजोर पड़ सकता है, इसलिए उनके प्रति आपको थोड़ा सा ध्यान देना होगा। इस दौरान आप कोई नई प्रॉपर्टी खरीदेंगे या किसी पुरानी प्रॉपर्टी पर कंस्ट्रक्शन करा सकते हैं। दांपत्य जीवन के लिहाज से यह समय थोड़ा सा कमजोर हो सकता है क्योंकि जहां एक ओर आपका जीवन साथी अपने काम में समय देगा, वहीं आप दोनों के बीच किसी खास विषय को लेकर तीखी बहस भी हो सकती है, इसलिए दांपत्य जीवन को मधुर बनाए रखने के लिए आपको थोड़ा सा शांत रहना चाहिए।

उपायः गौमाता को गुड़ और गेहूं खिलाएं।

8. वृश्चिक राशि — Scorpio : transit effect of mars

8. वृश्चिक राशि – Scorpio : transit effect of mars
इस दौरान मंगल आपकी राशि से तीसरे भाव में रहेगा। वहीं खास बात ये है कि मंगल का कोई भी गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि मंगल आपकी राशि का स्वामी है और राशि स्वामी होने के साथ ही साथ मंगल आप के छठे भाव का भी स्वामी है।
मंगल का तीसरे भाव में गोचर मुख्यतः अच्छा माना जाता है और इसके अनुकूल परिणाम आते हैं। इस गोचर के दौरान आपके साहस और पराक्रम में बढ़ोतरी होगी। आपकी निर्णय लेने की क्षमता निखरेगी, इस समय आप दूरदर्शी सोच के साथ जिस किसी भी काम को करेंगे और उसमें सफलता प्राप्त करेंगे।

यदि आप व्यापार करते हैं तो इस दौरान कोई नई नीति बनाएंगे जो आपके बहुत काम आएगी। वहीं यदि आप जॉब करते हैं तो इस दौरान आप अपने काम को पूजा मानकर खूब मेहनत करेंगे और अपने साथ काम करने वाले लोगों का भी सहयोग आपको मिलेगा। यदि आप खिलाड़ी हैं तो इस दौरान आपको अच्छे नतीजे मिलेंगे और आपको आपके खेल के लिए कोई पुरस्कार भी मिल सकता है।

आपको अपने मित्रों से अच्छा व्यवहार करना चाहिए और उनसे किसी प्रकार के विवाद से बचना चाहिए। भाई बहनों के प्रति आपको थोड़ा ध्यान देना होगा क्योंकि उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। इस समय में आपकी यात्राएं अधिक होंगी।

उपायः आपको अपने छोटे भाई बहनों को कोई भेंट देनी चाहिए।

9. धनु राशि — Sagittarius : transit effect of mars

9. धनु राशि – Sagittarius : transit effect of mars
गोचर काल में मंगल आपके दूसरे भाव में रहेगा। मंगल धनु राशि के लोगों के लिए मंगल पांचवें और बारहवें भाव का स्वामी है। ऐसे में मंगल का गोचर काल में प्रभाव विशेष रूप से दिखाई देगा।

संतान की ओर से इस दौरान आपको अच्छा सुख मिलेगा और आपको भी धन लाभ होने के प्रबल योग बनेंगे। विदेशी माध्यमों या मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाले लोगों को इस दौरान प्रचुर मात्रा में धन लाभ होगा। जो विद्यार्थी हैं, उन्हें अपनी शिक्षा का अच्छा नतीजे मिलेंगे और खासतौर से मैनेजमेंट और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों के लिए यह गोचर सोने पर सुहागा का काम करेगा।

प्रेम जीवन के लिए यह समय उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा। जहां आपका प्यार आपके प्रियतम के प्रति दिखाई देगा, वहीं दूसरी ओर, वह किसी असमंजस में रहेंगे और हो सकता है आपके परिवार वालों को उनका व्यवहार अच्छा ना लगे। ऐसे में आपको मध्यस्थता करनी होगी।

इस गोचर के प्रभाव से आपके पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव बढ़ सकता है और आपके कुटुंब में प्रॉपर्टी या किसी अन्य मसले को लेकर कोई विवाद जन्म ले सकता है। आपको भी कड़वे वचनों को बोलने से बचना चाहिए क्योंकि वह बात सभी को बुरी लग सकती है और उससे आपके रिश्ते बिगड़ सकते हैं।

उपायः मंगल के बीज मंत्र “ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः” का जाप करें।

10. मकर राशि — Capricorn : transit effect of mars

10. मकर राशि – Capricorn : transit effect of mars
गोचर काल में मंगल आपके प्रथम भाव में रहेगा, वहीं मंगल आपकी राशि के लिए चतुर्थ भाव और एकादश भाव का स्वामी है। इस गोचर काल में आपके प्रथम भाव यानि लग्न भाव में मंगल के प्रवेश का प्रभाव आप पर भी प्रमुख रूप से दिखाई देगा।

यह वो समय होगा, जिसमें आप अपने लिए कोई प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं और उसमें कोई कंस्ट्रक्शन कराने में भी आपको सफलता मिलेगी। कुछ लोगों को इस दौरान घर बदलने में सफलता मिलेगी। आप आमदनी को खुद पर खर्च करेंगे जिससे थोड़े खर्चे तो होंगे लेकिन आप अपने व्यक्तित्व में सुधार लाने का प्रयास करेंगे। व्यापार के मामले में यह गोचर सामान्य रहेगा और आप को आंशिक तौर पर अच्छे नतीजे मिल सकते हैं।

स्वास्थ्य इस समय में थोड़ा कमजोर हो सकता है, इसलिए उस पर विशेष ध्यान दें।

इस गोचर के परिणाम स्वरूप आपके व्यवहार में कुछ बदलाव देखने को मिलेगा और संभव है कि आप थोड़े उग्र हो जाएं, इसलिए आपको संयम बरतने की सलाह दी जाती है। चाहे कोई भी क्षेत्र हो, आप धैर्य से बात करें, तो बेहतर रहेगा। दांपत्य जीवन में तनाव बढ़ सकता है और आपका आपके जीवनसाथी से किसी बात को लेकर झगड़ा संभावित है क्योंकि आप गुस्से में आपे से बाहर हो सकते हैं और उनसे गलत तरीके से बातें कह सकते हैं।

उपायः मंगलवार के दिन अनार का पेड़ लगाएं।

11. कुंभ राशि — Aquarius : transit effect of mars

11. कुंभ राशि – Aquarius : transit effect of mars
गोचर काल की इस अवधि में मंगल आपके बारहवें भाव में रहेगा, वहीं कुंभ राशि के लोगों के लिए मंगल तीसरे और दसवें भाव का स्वामी है।
आप अपने विरोधियों पर विजय हासिल करेंगे। यह कार्य क्षेत्र में बड़े बदलाव ला सकता है और आपका ट्रांसफर हो सकता है। कुछ लोगों को काम के सिलसिले में लंबी यात्राओं पर भी जाना पड़ेगा। जो लोग विदेश में रहते हैं, उन्हें घर से दूर प्रॉपर्टी खरीदने में अच्छी सफलता हाथ लगेगी। आपके भाई बहनों को इस दौरान नौकरी में तरक्की मिल सकती है। विदेशी व्यापार से लाभ के रास्ते खुलेंगे।

इस समय में आपके खर्चे थोड़े बढ़ जाएंगे और स्वास्थ्य भी थोड़ा पीड़ित हो सकता है, इसलिए आपको अपने काम के साथ-साथ स्वास्थ्य पर भी ध्यान देना होगा। आपके परिवार का कोई छोटा व्यक्ति जैसे आपके छोटे या भाई बहन विदेश गमन कर सकते हैं।
आपके दांपत्य जीवन में इस समय कुछ परेशानियां बढ़ सकती हैं और जीवनसाथी तनावपूर्ण स्थितियों को महसूस कर सकता है। आपको नेत्र विकार या अनिद्रा की समस्या हो सकती है। स्वास्थ्य को लेकर भी कुछ खर्च हो सकते हैं।

उपायः मंगलवार के दिन रक्तदान करें और अपने छोटे भाइयों की यथासंभव मदद करें।

12. मीन राशि — Pisces : transit effect of mars

12. मीन राशि – Pisces : transit effect of mars
मंगल इस गोचर काल में आपके एकादश भाव में रहेगा। आपकी राशि के लिए मंगल आपके दूसरे और नवें भाव का स्वामी है। मंगल आपके भाग्य स्थान का स्वामी है।

वहीं एकादश भाव में मंगल का गोचर काफी आपके लिए महत्वपूर्ण रहेगा। एकादश भाव में मंगल के जाने से आपके कार्यों में गति आने लगेगी और आपकी जो योजनाएं अटकी पड़ी थीं वे अब पूरी होने लगेंगी। आप अपने विरोधियों पर भी भारी पड़ेंगे और वे चाह कर भी आप का कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे। कोर्ट कचहरी के मामलों में भी आपको फायदा होगा और उनसे लाभ मिलेगा। परिवार के लोग आपके काम में निवेश कर सकते हैं और आपकी आर्थिक मदद कर सकते हैं। इस समय में आर्थिक तौर पर आप काफी मजबूत बनेंगे और आपका सामाजिक स्तर भी ऊंचा होगा। अपने सामाजिक दायरे को बढ़ाने में आपको सफलता मिलेगी। इस गोचर का दूसरा पक्ष यह है कि आपके पिताजी को इस समय में अच्छा लाभ होगा और उनके करियर में तरक्की हो सकती है।

शिक्षा के क्षेत्र में इस दौरान कुछ रुकावट आ सकती है और आपका ध्यान भंग हो सकता है। इस समय में आपको अपने वरिष्ठ अधिकारियों से अच्छे संबंध बनाए रखने का प्रयास करना चाहिए, क्योंकि उनसे झगड़े की नौबत आ सकती है और उसका प्रभाव आपके काम में दिखाई देगा। इस समय में आपकी संतान को शारीरिक कष्ट परेशान कर सकते हैं, इसलिए उनका विशेष ध्यान रखें।

उपायः मंगल यंत्र की स्थापना करके विधिवत पूजा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *