श्री गणेश के खास उपाय, जिससे धन-धान्य से भर जाएगी झोली

Share this

बुधवार के दिन भगवान गणेश से जुड़े ये खास उपाय…

बुद्धि के कारक देव श्री गणेश को सनातन धर्म में प्रथम पूज्य देव माना जाता है। वहीं सप्ताह के दिनों में श्री गणेश बुधवार के कारक देव माने जाते हैं। अत: शास्त्रों में भी बुधवार का दिन गणपति की पूजा के लिए विशेष माना जाता है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार मान्यता के मुताबिक इस दिन गणेश भगवान की विशेष पूजा करने से आपको सभी कार्यों में सफलता मिलेगी और भाग्य भी आपका साथ देगा। माना जाता है कि बुधवार के दिन भगवान श्री गणेश की विशेष पूजा की जाए, तो व्यक्ति की सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। इसके साथ ही इससे नए ही नहीं पुराने से पुराने रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं।

वहीं ये भी माना जाता है कि भगवान श्री गणेश की विशेष पूजा से पूजा-अर्चना करने से घर में सुख शांति और समृद्ध‍ि आती है। बुधवार के दिन भगवान गणेश से जुड़े ये उपाय करने से जीवन से जुड़ी सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं। श्री गणेश की कृपा से, नए ही नहीं पुराने से पुराने रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं।

MUST READ : गणेश चतुर्थी 2020 – ऐसे करें विघ्नहर्ता श्रीगणेश को प्रसन्न, जीवन के सारे तनाव कर देंगे दूर

https://www.patrika.com/festivals/ganesh-chaturthi-2020-date-22-august-saturday-6218455/

पंडित शर्मा के अनुसार, बुधवार के दिन कुछ उपाय किए जाए तो बुध ग्रह का अच्छा प्रभाव पड़ता है। अगर आप पर बुध दोष है और आप इस दोष से जल्दी बाहर निकलना चाहते हैं, तो बुधवार के दिन किए गए ये छोटे-छोटे उपाय आपका दोष खत्म कर सकते हैं।

हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार, भगवान गणपति की पूजा करने का एक विशेष तरीका होता है। यदि विधिवत उनकी पूजा की जाए तो गणपति प्रसन्न होकर तमाम बाधाओं परेशानियों और तनाव से मुक्ति दे देते हैं। इसलिए माना जाता है कि बुधवार के दिन यदि आप अपने घर में गणपति की स्थापना करें और सफेद गणपति ही लाएं तो आपके घर-परिवार पर आई विपत्ति, शत्रु बाधा या तंत्र शक्तियों का प्रभाव खत्म हो जाएगा।

ऐसे करें पूजा…
इसके अलावा कार्य सफलता के लिए- रुके हुए कार्यों को पूरा करना चाहते हैं, तो बुधवार के दिन घर में ही मिट्टी की गणेश प्रतिमा बनाएं। इस प्रतिमा का ताजे गन्ने के रस और 108 सफेद दुर्वा से अभिषेक करें। ऐसा करने से पुराने से पुराने रुके हुआ कार्य भी पूरे हो जाएंगे। इतना ही नहीं भगवान गणेश आपकी हर मनोकामना पूरी करेंगे। बुधवार के दिन सुबह गणेश जी को दुर्वा की 11 या 21 गांठ चढ़ाएं। ऐसा करने से आपको जल्द ही शुभ फल मिलेगा और आपकी मनोकामना पूर्ण होगी।

धन वैभव के लिए- बुधवार के दिन सुबह कांसे की थाली में चंदन से ‘ऊं गं गणपतयै नमः’ लिखें। उसके बाद थाली में पांच बूंदी के लड्डू रखकर नजदीक के गणेश मंदिर में दान करें। इस उपाय को करने से धन प्राप्ति में आ रही सभी बाधाएं खत्म हो जाएगी। हर बुधवार जरूरतमंदों को हरी मूंग का दान जरूर करें। ऐसा करके आप अपने संबंधों में आई खटास को दूसर कर सकते हैं।

परेशानियों से निजात के लिए- अगर आपकी कोई विशेष मनोकामना है या जीवन में कुछ परेशानियां है तो किसी पुराने गणेश मंदिर में जाएं। पुराने गणेश मंदिर में जाकर पूजा सुपारी में कलावा बांधकर 11 दुर्वा के साथ गणेश जी के सीधे हाथ में रख दें। ऐसा करने के बाद हाथ जोड़कर अपनी मनोकामना पूर्ति और परेशानियों को दूर करने के लिए प्रार्थना करें। कहते हैं ऐसा करने से इंसान जल्द ही लाभ मिलेगा।

मनचाही मुराद के लिए- हर बुधवार को गणेश मंदिर जाएं और 21 गुड़ की ढेली और 21 दुर्वा श्री गणेश मंदिर में जाकर भगवान को अर्पित कर दें। इससे आपकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होगी। मनोकामना पूर्ति के अलावा यदि आप चाहते हैं कि आपको अधिक धन की प्राप्ति हो तो बुधवार के दिन गणेश जी को शुद्ध घी और गुड़ का भोग लगाएं।

बुध दोष से निजात के लिए- अगर आप पर बुध दोष का प्रभाव है तो आपको सबसे छोटी उंगली में पन्न रत्न धारण करना चाहिए। पर इससे पहले ज्योतिषी से सलाह जरूर ले लें। बुधवार के दिन गाय को हरी घास खि‍लाने से भी गणपति की कृपा होती है और बुध दोष का प्रभाव कम होता है। बुधवार के दिन गणपति को सिंदुर चढ़ाएं। इससे सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

अन्य उपाय…
मोदक- गणेश जी को प्रसन्न करने का दूसरा सरल तरीका है मोदक का भोग। गणपति अथर्वशीर्ष में लिखा है कि जो व्यक्ति गणेश जी को मोदक का भोग लगाता है गणपति उनका मंगल करते हैं। मोदक का भोग लगाने वाले की मनोकामना पूरी होती है। शास्त्रों में मोदक की तुलना ब्रह्म से की गयी है। मोदक भी अमृत मिश्रित माना गया है।

सुख समृद्धि के लिए- बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं। ऐसा करने से आपके घर के सारे क्लेश और मन मुटाव दूर हो जाएंगे। घर में सुख शांति और समृद्धि आएगी।

गाय को हरी घास खि‍लाने से भी गणपति की कृपा होती है और बुध दोष का प्रभाव कम होता है। बुधवार के दिन सात साबुत कौडियां लें और एक मुट्ठी हरा खड़ा मूंग लें। इन दोनों को हरे कपड़े में बांध लें। और भोर में किसी मंदिर की सीढ़ी पर चुपचाप रख आएं।

नकारत्मक ऊर्जा और कन्या का शीघ्र विवाह- बुधवार के दिन घर में श्वेतार्क गणपति (सफेद आंकडे की जड़ से बनी गणपति) की स्थापना करने से सभी प्रकार की तंत्र शक्ति का नाश हो जाता है व ऊपरी हवा का असर भी नहीं होता।

मान्यता के अनुसार यदि किसी कन्या का विवाह नहीं हो पा रहा है तो वह कन्या बुधवार को विवाह की कामना से भगवान श्रीगणेश को मालपुए का भोग लगाए तो शीघ्र ही उसका विवाह हो जाता है।

गृह दोष- अगर आपको राहु की समस्या है तो बुधवार की रात को एक नारियल सिर के पास रखकर सो जाएं। और अगले दिन वह नारियल गणेश जी के मंदिर में कुछ दक्षिणा के साथ चढ़ा दें। साथ ही विघ्नहर्ता गणेश स्रोत का पाठ भी करें।

एक हांडी में सवा किलो साबुत हरी मूंग दाल और दूसरी हांडी में सवा किलो नमक भरकर रखें। इन दोनों हांडियों को घर के किचन में कहीं पर भी रख दें। माना जाता है कि ऐसा करने से घर में आकस्मिक संकट नहीं आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *