धनतेरस पर इसलिए खरीदते हैं पीतल के बर्तन, फायदे जानकर विश्वास नहीं होगा

Share this

ज्योतिष की मानें तो पीतल का पीला रंग देवगुरु बृहस्पति से संबंधित है इसलिए पीतल पर बृहस्पति का आधिपत्य होता है। बृहस्पति ग्रह को शांत करने के लिए पीतल का इस्तेमाल करना चाहिए…

दीवाली से एक दिन पहले धनतेरस के दिन बाजरों में बर्तन खरीदने के लिए भारी भीड़ जमा होती है। पुरानी कहावते हैं कि धनतेरस के दिन बर्तन खरीदना शुभ माना जाता हैं, लेकिन सवाल ये उठता है कि कौनसे मेटल के बर्तन खरीदने चाहिए। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अखिरकार धनतेरस के दिन सिल्वर, कासा, पीतल में कौनसे मेटल के बर्तन खरीदने चाहिए। दरअसल, पीतल का महत्व ज्योतिष व धार्मिक शास्त्रों में भी बताया गया है। ज्योतिष की मानें तो पीतल का पीला रंग देवगुरु बृहस्पति से संबंधित है इसलिए पीतल पर बृहस्पति का आधिपत्य होता है। बृहस्पति ग्रह को शांत करने के लिए पीतल का इस्तेमाल करना चाहिए।

dhantersh-1.jpg

कई तरह से फायदेमंद हैं पीतल के बर्तन
—चूंकि पीतल का बर्तन जल्दी गर्म होता है इससे गैस व ईंधन की बचत होती है।
—पीतल धातु काफी मजबूत होती है जिसके बर्तन काफी मजबूत बनते हैं।
पीतल के कलश में रखा जल पीया जाए तो इससे ऊर्जा मिलती है।

इस मंदिर में दर्शन मात्र से मिल जाता है मनचाहा प्रेमी, बस करना होगा ये काम

—कन्यादान के समय पीतल का कलश प्रयोग किया जाए तो अति शुभ माना जाता है।
—बालक के जन्म पर नाल छेदने के बाद पीतल की थाली को पीटा जाता है। माना जाता है कि इससे पितृगण को बताया जाता है कि आपके कुल में पिंडदान करने वाले वंशज का जन्म हो चुका है।
—धन प्राप्ति के लिए पूर्णिमा के दिन भगवान श्रीकृष्ण पर शुद्ध घी से भरा पीतल का कलश चढ़ाना चाहिए।
—वैभवलक्ष्मी का पूजन में पीतल के दीये में जोत जलानी चाहिए।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *