धर्म: घोर संकट से बचने के ये हैं आसान वास्तु उपाय! जो खोलेंगे आपकी किस्मत का ताला

Share this

आर्थिक स्थिति मजबूत करने सहित संकट में बाहर निकलने…

जीवन में अच्छा और बुरा समय आता ही रहता है। लेकिन कई बार व्यक्ति किसी घोर संकट में फंस जाता है, तो उससे निकलने के लिए वह हर तरह से प्रयास भी करता है। ऐसे में जहां कुछ लोग ऐसे संकटों से बाहर आ भी जाते हैं तो कुछ को तमाम कोशिशों के बावजूद सफलता नहीं मिलती है। दरअसल तब जब मनुष्य घोर संकट, आकस्मिक संकट से घिर जाता है तो उससे बाहर निकलने का रास्ता खोजना बहुत ही मुश्किल भरा हो जाता है।

ऐसे में अध्यात्म सहित वास्तु में कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं जिनके संबंध में मान्यता है कि इन उपायों की मदद से व्यक्ति को काफी मदद मिलती है। यहां तक कहा जाता है कि व्यक्ति द्वारा इन चंद उपायों को आजमाने से संकट तत्काल दूर हों सकते हैं।

ये हैं वे आसान उपाय !

: सुबह, शाम और रात को कपूर जलाना न भूलें।

: प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ें।

: घर से बाहर जाते वक्त कभी भी झगड़कर न जाएं।

: बाहर जाते से पहले कुछ मीठा खाकर जाएं।

: शाम के वक्त (धरधरी के समय) खेलना, सफर करना, झगड़ा करना, अपशब्द बोलना, टीवी देखना, बुरे विचार मन-मस्तिष्क में लाना आदि सभी कार्य करने से व्यक्ति संकटों से घिर जाता है।

: दरवाजों के कब्जों में तेल डालते रहें यानि दरवाजा खोलते या बंद करते समय आवाज करते हैं, जो कि वास्तु के अनुसार अत्यंत अशुभ और अनिष्टकारी होता है।

धन वृद्धि के टोटके…
ज्यादातर घरों में धन वृद्धि के लिए कई उपाय किए जाते हैं, लेकिन पूरी जानकारी के अभाव में उसका लाभ नहीं मिल पाता। अगर आपके जीवन में प्रगति नहीं हो रही है या फिर बने बनाए कार्य बिगड़ जाते हैं तो ज्योतिष शास्त्र के तंत्र शास्त्र में कुछ टोटके बताए गए हैं, जिनको आजमाने से आपको लाभ मिल सकता है।

माना जाता है कि इन टोटको के करने से ना सिर्फ धन संबंधित समस्या खत्म होती है बल्कि परिवार में सुख-शांति बनी रहे, इसके लिए भी उपाय किए जाते हैं। हम आपके लिए ऐसे ही कुछ टोटके लेकर आए हैं, जो धन वृद्धि के लिए बहुत ही असरदार माने जाते हैं…

: कृष्ण पक्ष के पहले शनिवार से लेकर 7 शनिवार तक घर के मुख्य द्वार पर सरसों के तेल का दीपक जलाएं और फिर सुबह बुझे हुए दीपक के शेष तेल को पीपल के वृक्ष पर अर्पित कर दें, ऐसा करने से आर्थिक समस्याएं खत्म होती हैं और ईष्ट देवों का आशीर्वाद मिलता है। साथ ही आप पीले कपड़े में कस्तूरी लपेटकर अपनी तिजोरी या धन स्थान में रखें, ऐसा करने से धन वृद्धि होती है।

: तंत्र शास्त्र के अनुसार, आर्थिक समृद्धि के लिए 6 शनिवार तक श्मशान के कुएं या चापकाल से जल लाकर पीपल के वृक्ष पर अर्पित कर दें। ऐसा करने से कर्ज की स्थिति खत्म होती है और आपको कोष में भी वृद्धि होने लगती है। ध्यान रहे कि जब पानी ला रहे हों तो पीछे मुडकर न देखें। साथ ही आप अमावस्या के दिन विकलांग व्यक्ति को भोजन कराएं, इससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।

: शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी के मंदिर में झाड़ू दान करें और कनकधारा स्तोत्र का पाठ करें, ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और आशीर्वाद देती हैं। इसके बाद अशोक की जड़ को गंगाजल से पवित्र करें और फिर उसे धन स्थान के पर रख दें। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा और आपके कोष में वृद्धि होगी।

: तंत्र शास्त्र के अनुसार, दालचीनी के पाउडर को लेकर उस पर से सात बार अगरबत्ती को एंटी क्लॉक वाइज घूमाकर धन वृद्धि के लिए कामना करें और फिर उसे अपने पर्स, तिजोरी या फिर जहां पैसा रखते हों, वहां छिड़क लें और बची हुई दालचीनी के पाउडर को घर के मंदिर में ही रख दें और हर दूसरे-तीसरे दिन यहीं क्रिया दोरहाएं। ऐसा करने से आपकी मनोकामना जल्द पूरी होगी।

: शुक्ल पक्ष के किसी भी मंगलवार या गुरुवार को एक मिट्टी के बर्तन में लें और उसमें साबुत सूखा धनिया और 21 रुपए के सिक्के डालकर ऊपर से मिट्टी डाल दें। मिट्टी व धनिया को हल्के हाथ से मिक्स कर दें और फिर थोड़ा सा पानी डाल दें। ऐसा करने के बाद बर्तन को उत्तर दिशा में रख दें और हर रोज थोड़ा सा पानी दें।

जब धनिया निकल आए तो उसे उपयोग में लें और सिक्कों को लाल कपड़ा में बांधकर घर या कार्यलय में लटका दें। धन आगमन का यह टोटका आपके लिए काफी कारगर सिद्द होगा।

: मनोकामना की पूर्ति के लिए सुबह सबसे पहले अपना राइट हेंड साइड के पैर को धरती पर रखें फिर स्नान व ध्यान के बाद श्याम तुलसी के पौधे पर जल में दूध मिश्रित करते अर्पित करें और अपनी मनोकामना बताएं। इसके बाद सायंकाल के समय सरसों के तेल में अखंडित लौंग रखकर किसी निर्जन स्थान पर जला दें। ऐसा करने से आपकी मनोकामना जल्द पूरी होगी और ईष्टों देवों का आशीर्वाद भी मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *